आज यहाँ जानिए; पितृ पक्ष में पूजा करने के लिए 12 बजे के बाद का समय ही है मंगलमय..!!!

पितृ पक्ष में पूजा
पितृ पक्ष में पूजा

इस समय पितृपक्ष चल रहे हैं। मान्यता है कि इस दौरान श्राद्ध और तर्पण करने से लोगों के पूर्वजों की आत्मा को शांति और मुक्ति मिलती है।

मान्यता है कि पितरों के श्राद्ध को लेकर कुछ समय महत्वपूर्ण है। जब सूर्य की छाया पैरों पर पड़ने लगे तब ही श्राद्ध किया जाना चाहिए। इसका मतलब दोपहर बाद श्राद्ध करना बेहतर माना गया है। पितृ पक्ष में पूजा करने के लिए 12 बजे के बाद का समय ही है मंगलमय माना गया है , यदि दोपहर 12 बजे

से पहले श्राद्ध किया गया तो पितरों तक नहीं पहुंचता है। इसलिए सुबह सुबह भी श्राद्ध करने से बचना चाहिए।

साथ साथ हमें यह भी ध्यान रखना होगा की पितृ पक्ष के दौरान पितरों के लिए किया जाने वाला तर्पण और श्राद्ध दक्षिण दिशा की ओर मुख करके किया जाना चाहिए। इसके अलावा दाएं कंधे पर जनेउ होना चाहिए।

One Comment