किस देवता को पसंद है कौन से फूल, चढ़ाने मात्र से होती है भगवान् प्रसन्न..!!!

फूल देवताओं को विशेष प्रिय होते हैं
फूल देवताओं को विशेष प्रिय होते हैं

कुछ फूल देवताओं को विशेष प्रिय होते हैं। मान्यता है कि देवताओं को उनकी पसंद के फूल चढ़ाने से वे अति प्रसन्न होते हैं ।आईये जानते हैं कि किस देवता के पूजन में कौन से फूल चढ़ाना चाहिए

  • भगवान श्रीगणेश– आचार भूषण ग्रंथ के अनुसार भगवान श्रीगणेश को तुलसीदल को छोड़कर सभी प्रकार के फूल चढाएं जा सकते हैं। गणेश जी को दूर्वा बहुत ही प्रिय है ।
  • भगवान शिव– भगवान शंकर को धतूरे के फूल, हरसिंगार, व नागकेसर के सफेद पुष्प, सूखे कमल गट्टे, कनेर, कुसुम, आक, कुश आदि के फूल चढ़ाने का विधान है। भगवान शिव को केवड़े का पुष्प नहीं चढ़ाया जाता है।

  • भगवान विष्णु– इन्हें कमल, मौलसिरी, जूही, कदम्ब, केवड़ा, चमेली, अशोक, मालती, वासंती, चंपा, वैजयंती के पुष्प विशेष प्रिय हैं।
  • सूर्य देव– कनेर, कमल, चंपा, पलाश, आक, अशोक आदि के पुष्प इन्हें प्रिय हैं।
  • भगवान श्रीकृष्ण– श्रीकृष्ण स्वयं कहते हैं मुझे कुमुद, करवरी, चणक, मालती, पलाश व वनमाला के फूल प्रिय हैं।
  • माँ गौरी– बेला, सफेद कमल, पलाश, चंपा के फूल चढ़ाए जा सकते हैं।

  • लक्ष्मीजी– मां लक्ष्मी का सबसे अधिक प्रिय पुष्प कमल है। उन्हें पीला फूल चढ़ाकर भी प्रसन्न किया जा सकता है। इन्हें लाल गुलाब का फूल भी काफी प्रिय है।
  • हनुमान जी– इनको लाल गुलाब, लाल गेंदा आदि के पुष्प चढ़ाए जा सकते है।
  • माँ काली– इनको अड़हुल का फूल बहुत पसंद है।
  • माँ दुर्गा– इनको लाल गुलाब या लाल अड़हुल के पुष्प चढ़ाना श्रेष्ठ है।

  • माँ सरस्वती– विद्या की देवी माँ सरस्वती को प्रसन्न करने के लिए सफेद या पीले रंग का फूल चढ़ाएं जाते है।
  • शनि देव- शनि देव को नीले लाजवन्ती के फूल चढ़ाने चाहिए, इसके अतिरिक्त कोई भी नीले या गहरे रंग के फूल चढ़ाने से शनि देव शीघ्र ही प्रसन्न होते है।

 

One Comment