नवरात्रि विशेष: इन वस्तुओं का उचित प्रयोग आपको दिलाएगा मनोवांछित फल!!!

नवरात्रि विशेष: इन वस्तुओं का उचित प्रयोग आपको दिलाएगा मनोवांछित फल!!!

हर साल में चैत्र, आषाढ़, आश्विन और माघ महीनों में चार बार नवरात्र आते हैं, लेकिन चैत्र और आश्विन माह की शुक्ल प्रतिपदा से नवमी तक चलने वाले नवरात्र ही ज्यादा लोकप्रिय हैं जिन्हें मां भगवती की आराधना के लिए श्रेष्ठ माना जाता है। धर्म ग्रंथों, पुराणों के अनुसार चैत्र नवरात्रों का समय बहुत ही भाग्यशाली बताया गया है। इसका एक कारण यह भी है कि प्रकृति में इस समय हर और नये जीवन का, एक नई उम्मीद का बीज अंकुरित होने लगता है। जनमानस में भी एक नई उर्जा का संचार हो रहा होता है। नवरात्रि मे माता के नौ रूपो की पूजा अर्चना कर सूखी जीवन की प्रार्थना की जाती है। 28 मार्च से शुरू होने वाले नवरात्रि में माँ दुर्गा की पूजा विशेष फलदायी है। नवरात्रि के समय कुछ वस्तुओं का उचित प्रयोग आपको सफलता, धन एवं समृद्धि प्रदान करता है। तो आइए जानते है क्या है वो चीजें:
नारियल – माता को प्रमाण कर लाल आसन पर इसे रखें और लक्ष्मी-विष्णु का स्वरूप मानकर पूजा करें। इससे धन की प्राप्ति होती है।

शंख – शंख वेसे तो मँदिर मे रखा ही जाता हाइ किन्तु नवरात्रि के दिनों मे इसका विशेष महत्व होता है।नवरात्रि पर्व में दक्षिणावर्ती शंख का प्रयोग दरिद्रता का नाश करता है। इसमें शुद्ध जल भरकर छिड़कने से दुर्भाग्य और ग्रहों के दुष्प्रभाव दूर होते हैं।
शालिग्राम -शालिग्राम को भगवान विष्णु का प्रतीक माना गया है। नवरात्रि में इसे कैश बाक्स पर  रखकर पूजा करना धन वृद्धि होती है।
गोमती चक्र – गोमती चक्र कम कीमत वाला एक ऐसा पत्थर है जो गोमती नदी से निकलता है।नवरात्रि के दौरान इसे धारण करने के साथ हमेशा अपने साथ रखना चाहिए। इससे रोगों से छुटकारा मिलता है।

234 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.