नहीं पहुंचती भगवान तक आपकी प्रार्थना जब तक आप मंदिर में नहीं करते ये तीन काम !!

मंदिर और उसमें स्थापित भगवान की मूर्ति हमारे लिए आस्था का प्रतीक हैं। मंदिर हिन्दू धर्म का एक बहुत बड़ा हिस्सा है और हमारे भीतर आस्था जगाते हैं। किसी भी मंदिर को देखते ही हम श्रद्धा के साथ सिर झुकाकर भगवान के को नमस्कार करते हैं।

आमतौर पर हम मंदिर भगवान के दर्शन और मन्नत मांगने के लिए जाते हैं। मंदिर वह स्थान है जहां जाकर मन को शांति मिलती है। वहां हमारे अंदर खोई हुई ताकत भी वापस आजाती है और हम अपने भीतर नई शक्ति का अहसास करते हैं।लेकिन अगर आप मँदिर में भगवान की प्रार्थना करते भी है वो प्रार्थना भगवान तक जब ही पहुँचेगी जब आप ये 4 चीजें करेंगे। आयें जानते है कौनसी है वो तीन चीजें।

 

  1. जब भी आप मँदिर के अंदर जाएँ तो बहुत ही धीमी आवाज मे मँदिर की घंटियाँ बजाये जिससे जिससे दूसरों का ध्यान भंग ना हो।
  2. दर्शन के दौरान सबसे पहले देवी या देवता के चरणों मे नज़र केंद्रित करें उसके बाद देवता य देवी की छाती पर अपना मन केंद्रित करे और अंत मे देवता या देवी की प्रतिमा के नेत्र पर दृष्टि साधकर उनका पूरा स्वरूप अपने मन मे उतारे।
घर में सत्यनारायण की पूजा
घर में सत्यनारायण की पूजा
  1. देव प्रतिमा के सामने उनके जो वाहन है उनके भी हाथ जोड़कर आशीर्वाद लेना न भुले।
  2. मँदिर मे देव प्रतिमा पर फूल फेके नहीं बल्कि उन्हे पन्डित जी को दे तकि वे इन फूलों को देव प्रतिमा के चरणों मे अर्पित कर सके।

219 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.