गुजरात का अनोखा मंदिर: जहां हिंदू करते हैं एक मुस्लिम महिला की पूजा

भारत अनेकता में एकता का देश है। ऐसा ही एक उदाहरण हमें गुजरात के एक गांव में देखने को मिलता है। गुजरात की राजधानी अहमदाबाद से लगभग 40 किलोमीटर दूर झूलासन नाम का एक गांव है। इस गांव की खासियत है यहां का एक मंदिर। दुनिया में शायद ये ऐसा एकलौता हिन्दू मंदिर है, जिसमें एक मुस्लिम महिला की पूजा देवी रूप में की जाती है।

डोला माता मंदिर
डोला माता मंदिर

 

क्यों पूजी जाती है मुस्लिम महिला यहां देवी के रूप में

इस मंदिर में डोला नाम की मुस्लिम महिला की पूजा की जाती है। डोला के बारे में कहा जाता है कि करीब 250 साल पहले इस गांव पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया। जिसमें डोला ने वीरतापूर्वक उन बदमाशों से गांव की रक्षा की और शहीद हो गई। कहा जाता है कि डोला का मृत शरीर एक फूल में बदल गया था। डोला की वीरता और सम्मान में गांव वालों ने उसी जगह पर मंदिर का निर्माण किया, जहां डोला ने अपने प्राण त्यागे थे और उसकी देवीय शक्ति के रूप में पूजा करने लगे।
डोला माता मंदिर शिखर
डोला माता मंदिर शिखर

मंदिर में नहीं है कोई मूर्ति

गांव के लोगों ने यहां पर डोला माता का एक भव्य मंदिर बनवाया। यह मंदिर भव्य होने के साथ-साथ बहुत ही सुंदर भी है। इस मंदिर के निर्माण में लगभग 4 करोड़ का खर्च किया गया था। इस मंदिर में कोई मूर्ति नहीं है, यहां केवल एक पत्थर है जिस पर रंगीन कपड़ा ढंका है। कपड़े से ढंके इसी पत्थर को डोला माता मान कर उसकी पूजा की जाती है।

 

 

84 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.