माँ लक्ष्मी करेगी आपके घर में वास अगर इस नवरात्री आपने जप लिए उनके इन पुत्रों के नाम..!!!

हर माँ को अपने बच्चे बहुत प्यारे होते है ये ममता ही तो है, जो मां को बच्चों से जोड़ती है। बच्चे जब आवाज देते है तो मां कहीं भी हो दौडी चली आती हैं। ऐसा ही सभी बच्चों की माँ लक्ष्मी के साथ भी है। आज हम बता रहें है अगर आप मां लक्ष्मी को प्रसन्न करना चाहते हैं या उनकी कृपा दृष्टि पाना चाहते हैं तो केवल और केवल उनके 18 पुत्रों के नाम जपने मात्र से आपकी मनोकामनाएं पूरी होंगी । इससे मां लक्ष्मी आपके घर खिंची चली आएंगी। ज्योतिष और धार्मिक ग्रंथों के अनुसार जब लक्ष्मी जी के पुत्रों का नाम लेंगे, तो मां दौड़ी चली आयेंगी।  गणेश जी लक्ष्मी जी के मानस पुत्र हैं।

वैसे तो लक्ष्मी जी चंचला हैं, एक स्थान पर नहीं टिकतीं। पर ऐसी तीन जगहें है जहाँ पर लक्ष्मी जी सदा निवास करती हैं। पहला वह स्थान जहां विष्णु जी का अभिषेक दक्षिणावर्ती शंख से किया जाये। दूसरा वह स्थान, जहां गणपति की आराधना की जाये। तीसरा उपाय है लक्ष्मी जी के 18 पुत्रों का नाम

जपना।ऋग्वेद में लक्ष्मी जी के 4 पुत्रों का नाम इस श्लोक में आया है -आनंद: कर्दम: श्रीदश्चिकलीत इति विश्रुता: -ऋषय: श्रिय: पुत्राश्व मयि श्रीर्देवी देवता लेकिन आकस्मिक धन पाने के लिये आपको लक्ष्मी जी के 18 वर्ग पुत्रों के नाम लेने होंगे। इसके बाद धन की व्यवस्था स्वयं लक्ष्मी जी आकर करती हैं।

बता दें अगर अचानक कारोबार में घाटा हो जाये, पैसे डूब जायें, अच्छी भली नौकरी चली जाये या फिर कोई प्राकृतिक आपदा आ जाये, बस ऐसी ही परिस्थिति में, लक्ष्मी जी के 18 पुत्रों का नाम, शुक्रवार से जपना शुरू कर दें।

लक्ष्मी जी के 18 पुत्रों के नाम

 

  • ॐ देवसखाय नम:
  • ॐ चिक्लीताय नम:
  • ॐ आनन्दाय नम:
  • ॐ कर्दमाय नम:
  • ॐ श्रीप्रदाय नम:
  • ॐ जातवेदाय नम:
  • ॐ अनुरागाय नम:
  • ॐ सम्वादाय नम:
  • ॐ विजयाय नम:

  • ॐ वल्लभाय नम:
  • ॐ मदाय नम:
  • ॐ हर्षाय नम:
  • ॐ बलाय नम:
  • ॐ तेजसे नम: –
  • ॐ दमकाय नम
  • ॐ सलिलाय नम:
  • ॐ गुग्गुलाय नम:
  • ॐ कुरूण्टकाय नम:

अगर आप भी किसी ऐसी परिस्थिति के शिकार हैं, जिसमें अचानक से पैसे रूपये चाहिए, तो यह उपाय शुक्रवार से आज़मायें।

माँ लक्ष्मी की कृपा आपके ऊपर बानी रहें।

 

॥ जय माता लक्ष्मी ॥

5 Comments