करवा चौथ पर चाँद को अर्घ्य देते समय पूजा की थाली में क्या-क्या होना है ज़रूरी: जरूर जाने..!!!!

इस साल करवाचौथ 8 अक्टूबर 2017 को मनाई जा रही है। इस दिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत करती हैं। आज हम आपको बता रहें है दिनभर व्रत रखने के बाद, दिन में पूजा और कथा सुनने के बाद शाम को जब महिलाएं चंद्रमा को अर्घ्य देती हैं, तो उनकी पूजा की थाली में ये चीज़ें

करवा चौथ पर चाँद को देखती महिलाएं
करवा चौथ पर चाँद को देखती महिलाएं

होनी बहुत ज़रूरी है साथ ही यह भी बताएंगे की अर्घ्य देते समय किन बातों का ध्यान रखना जरुरी होगा , तो आइये जानते है:

  • पूजा की थाली में छलनी, आटे का दीपक (देशी घी का दीया और आटे का दीपक इसलिए रखा जाता है, क्योंकि आटा भी अनाज ही है), फल, ड्राईफ्रूट, मिठाई या घर में जो मीठा बना है वो और दो पानी के लोटे- एक चंद्रमा को अर्घ्य देने के लिए और दूसरा वो जिससे आप पहले पति को पानी पिलाती हैं और फिर वो आपको पिलाते हैं। पति को पहले पानी इसलिए पिलाया जाता है कि हम उन्हें परमेश्वर मानकर पहले उन्हें भोग लगाते हैं और फिर उसे
करवा चौथ पर चाँद की पूजा
करवा चौथ पर चाँद की पूजा

ख़ुद भी खाते हैं। जिस तरह हम नवरात्रि, शिवरात्रि आदि व्रत में पहले भगवान को भोग लगाते हैं, फिर उसे ग्रहण करते हैं, ठीक उसी तरह करवाचौथ के दिन पति को परमेश्वर मानकर पहले उन्हें भोग लगाया जाता है और फिर ख़ुद उसे ग्रहण किया जाता है। अर्घ्य वाले लोटे का पानी न पीएं, फिर आप पति को फ्रूट, ड्राईफ्रूट और मीठा खिलाएं और पति भी आपको ये सब चीज़ें खिलाएंगे।

करवा चौथ पर चाँद को अर्घ्य
करवा चौथ पर चाँद को अर्घ्य
  • अर्घ्य देते जाते समय वो चुन्नी साथ ज़रूर ले जाएं, जिसे आपने कथा सुनते समय पहना था। चंद्रमा को छलनी में दीया रखकर उसमें से देखें, फिर उसी छलनी से तुरंत अपने पति को देखें। छलनी में दीया रखने का रिवाज़ इसलिए बना, क्योंकि महिलाएं चांद देखने के बाद छलनी में रखे दीये के प्रकाश से अपने पति को देख सकें।

करवा चौथ से जुडी कुछ जरुरी बातें

  • हाथों की मेहंदी पर पति का नाम लिखवाया ही जाए ये ज़रूरी नहीं, महिलाएं प्यार बढ़ाने के लिए ऐसा करती हैं, लेकिन मेहंदी से पति का नाम लिखवाना ही चाहिए, ऐसा कोई नियम नहीं है।
  • आप चाहें तो घर के मंदिर में पूजा कर सकती हैं या फिर अलग से चौकी लगाकर भी पूजा कर सकती हैं।
  • आजकल करवाचौथ के कैलेंडर भी आते हैं, यदि आपके पास वो नहीं है तो भी कोई बात नहीं। पहले के ज़माने में लोग दीवार पर इसका प्रतीक बना लेते थे। भगवान श्रद्धा के भूखे हैं, नियमों के नहीं।
करवा चौथ पर महिलाएं
करवा चौथ पर महिलाएं
  • पूजा करते समय आपका चेहरा पूर्व की तरफ होना चाहिए।
  • पूजा के बाद घर आकर साथ मिलकर खाना खाएं।
  • किसी भी पूजा के दिन सात्विक यानी बिना लहसुन-प्याज़ वाला खाना खाया जाता है, इसीलिए करवाचौथ के दिन भी ऐसा ही सात्विक भोजन करें। किसी भी तरह का तामसिक आहार न लें।

2 Comments