अगर बच्चा अचानक लगाने लगे झाड़ू, तो यह संकेत है इस बात का !!

घरों में साफ सफाई करना लक्ष्मी से जोड़ा गया है झाड़ू का सीधा संबंध सफाई से है इसलिए शास्त्रों में इसे भी देवी लक्ष्मी का प्रतीक माना गया है वैदिक मान्यताओं में घर में झाड़ू रखने के  स्थान से लेकर इसका उपयोग करने तक के कुछ विशेष नियम बताए गए हैं जिसका पालन करना हर खुशहाल परिवार के लिए आवश्यक माना गया है।

जैसा कि आप सब जानते हैं कि झाड़ू के प्रयोग से जुड़ी कई ऐसी मान्यताएं हैं जैसे कि सुबह की शुरुआत सबसे पहले झाड़ू की सफाई से करना नए घर में पुराना झाड़ू ना लेकर आना सूर्यास्त के बाद झाड़ू नहीं लगाना यह कुछ ऐसी मान्यताएं हैं जिन्हें करनाल घर में दरिद्रता को दूर भगा कर लक्ष्मी का स्थान प्राप्त करवाती है और इसे आवश्यक भी माना गया है। इसके अलावा भी झाडू से जुड़ी कई मान्यता है जैसे कि झाड़ू को कभी भी खड़ा नहीं रखना चाहिए इससे घर में दुश्मनी बढ़ती है।इसके अलावा मान्यताओं के अनुसार झाड़ू को कभी भी खुला नहीं रखना चाहिए बल्कि घर में ऐसी जगह रखना चाहिए जहां पर उस पर किसी की नजर ना पड़े और खासकर बाहर से आने वाले अतिथियों की नजर तो बिल्कुल भी ना पड़े।

ऐसे ही एक मान्यता बच्चों को लेकर है अपने हर टाइम घर में देखा ही होगा कि बच्चों को कुछ कहने को नहीं मिलता तो वह अचानक से खिलौने छोड़कर झाड़ू उठा कर उसे खेलने लगते हैं या फिर घर में बड़ों की नकल करते हुए  झाड़ू लगाने का प्रयत्न करते हैं अगर घर में कभी भी कोई भी बच्चा अगर ऐसा करता है तो शास्त्रों में उसका एक संकेत माना गया है जो कि कहलाता है कि आपके घर में किसी अतिथि के आगमन का संकेत है इसके अलावा यह भी माना जाता है कि आने वाला अतिथि या तो आप के लिए आर्थिक दृष्टि से किसी प्रकार से लाभप्रद से धोखा या अन्य प्रकार से आपको धन लाभ होगा सीधे शब्दों में यह आप पर महालक्ष्मी की कृपा होना भी दिखाता है।

 

One Comment