पढ़ना जरूर…!!! आखिर क्यों रखना चाहिए उपवास…!!जानिए उपवास का वैज्ञानिक पहलु..!!!

पढ़ना जरूर…!!!आखिर क्यों रखना चाहिए उपवास…!!जानिए उपवास का वैज्ञानिक पहलु..!!!

चैत्र नवरात्री आने में है कुछ लोग इस समय उपवास रखकर माँ की आराधना करते है।कोई भी पूजा-पाठ या त्योहार होता है, तो लोग उपवास रखते हैं।मनुष्य को पुण्य के आचरण से सुख और पाप के आचरण से दु:ख होता है। मानव की दु:ख की निवृत्ति के लिए अनेक उपाय कहे हैं।उन्हीं उपायों में से उपवास श्रेष्ठ तथा सुगम उपाय हैं।

संकल्पपूर्वक किए गए कर्म या किसी उद्देश्य की प्राप्ति के लिए दिनभर के लिए अन्न या जल या अन्य तरह के भोजन या इन सबका त्याग उपवास कहलाता है। इसे धर्म का साधन माना गया है।

उपवास करने के कई फायदे है

  • उपवास को हम यहां अनाहार के अर्थ में लेते हैं। उपवास एक प्रकार की शक्ति है जिसके बल से जहां रोगों को दूर कर सेहतमंद रहा जा सकता है, वहीं इसके माध्यम से सिद्धि और समृद्धि भी हासिल की जा सकती है।
  • आयुर्वेद के अनुसार व्रत करने से पाचन क्रिया अच्छी होती है और फलाहार लेने से शरीर का डीटॉक्सीफिकेशन होता है, यानी उसमें से खराब तत्व बाहर निकलते हैं।

  • शोधकर्ताओं के अनुसार उपवास करने से कैंसर का खतरा कम होता है। हृदय संबंधी रोगों, मधुमेह, आदि रोग भी जल्दी नहीं लगते।
  • उपवास करने से शरीर के भीतर मौजूद विषाक्त पदार्थ साफ हो जाते हैं।इसके साथ ही पाचन क्रिया भी पहले से बेहतर हो जाती है।
  • उपवास रखने के दौरान फैट बर्निंग प्रोसेस तेज हो जाता है,जिससे चर्बी तेजी से गलना शुरू हो जाती है।
  • फैट सेल्स लैप्टि्न नाम का हॉर्मोन स्त्रावित करती हैं।व्रत के दौरान कम कैलोरी मिलने से लैप्टि्न की सक्रियता पर असर पड़ता है और वजन कम होता है।
  • उपवास करने से नई रोग प्रतिरोधक कोशिकाओं के बनने में मदद होती है। कैंसर के मरीजों के लिए व्रत रखना बहुत फायदेमंद होता है। खासतौर पर उन मरीजों के लिए जो कीमोथेरेपी ले रहे हैं।
  • जरूरी नहीं है कि जब कोई धार्मिक मौका हो तो ही आप व्रत करें।शरीर की अंदरुनी गंदगी को साफ करने और पाचन क्रिया को बेहतर बनाने के लिए आप कभी भी सुविधानुसार व्रत कर सकते हैं.
  • उपवास करने से दिमाग भी स्वस्थ रहता है,उपवास करने से डिप्रेशन और मस्तिेष्क से जुड़ी कई समस्याओं में फायदा होता है.

  • आज के समय में तनाव एक बहुत बड़ी मेडिकल प्रॉब्लम है, उपवास करने से तनाव में कमी आती है।
  • किसी भी प्रकार का गंभीर रोग इस योग द्वारा समाप्त किया जा सकता है।
  • शरीर सहित मन और मस्तिष्क को हमेशा संतुलित और स्वस्थ बनाए रखा जा सकता है।
  • इससे व्यक्ति की आयु बढ़ती है तथा व्यक्ति जीतेंद्रिय कहलाता है।

तो अब आप सब जान ही गए होंगे उपवास करने से भगवान् ही नहीं आपका शरीर भी प्रसन्न होता है।
जरूर रखे उपवास और पाए अपने आराध्य की कृपा।

78 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.