माँ इसे सिर्फ देखते ही खुश हो जाती है माँ का साक्षात् आशीर्वाद घर के मंदिर में रखे देखे चमत्कार !!

नवरात्रि के दिनों में देवी मां पर फूल चढ़ाने का एक अलग ही अपना महत्व होता है ज्योतिषियों की मानें तो नवरात्रि के दिनों में माता पर गुड़हल का फूल चढ़ाने से भक्तों पर माता अपनी असीम कृपा बरसाती है देवी पुराण के अनुसार माता पर गुड़हल का फूल चढ़ाना उतना ही लाभदायक है जितना बाबा महाकाल को बेलपत्र चढ़ाना।

नवरात्रि का समय देवी मां को प्रसन्न करके कुंडली के दोष दूर करने का का समय होता है इस समय में तारामंडल ग्रह और नक्षत्र की परिस्थितियों का फायदा उठाते हुए मात्र एक फूल को उसकी संख्या के आधार पर माला बनाकर माता दुर्गा को समर्पित करने से ही कुंडली के सभी दोषों को दूर किया जा सकता है। गुड़हल का फूल देवी मां के लिए बहुत ही प्रिय फूल माना गया है ऐसा माना जाता है कि गुड़हल के फूल के शुरूआती भाग में ब्रह्मा का वास होता है वही मध्य के भाग में भगवान विष्णु का वास होता है और अंतिम भाग में भगवान महेश यानी भगवान शिव का वास होता है और अंकुरण भाग खुद शक्ति का स्वरुप माता दुर्गा का वास होता है।

नवरात्रि के दिनों में माता दुर्गा का पूजन बहुत ही खास माना जाता है और इसमें रंगों का चुनाव भी बेहद खास होता है। माता दुर्गा को लाल रंग के पुष्प बेहद पसंद आते हैं और अंक ज्योतिष के अनुसार माता दुर्गा के लिए जब भी आप माला बनाए तो उसमें फूलों की संख्या का विशेष ध्यान रखें। जब भी आप फूलों की माला बनाए तो उसमें तकरीबन 28 फूल होना आवश्यक होता है इससे कम फूल की माला माता दुर्गा को नहीं चढ़ाई जाती है अगर आप 28 ज्यादा की भी बनाना चाहे तो बना सकते हैं लेकिन 28 से कम की बिल्कुल भी नहीं बनाए और ना ही माता दुर्गा को समर्पित करें।

तंत्र साधना में भी गुड़हल के फूलों का बेहद महत्व होता है इस साधना में भी फूलों की संख्या ध्यान में रखते हुए मंत्रोच्चार से विभिन्न दोषों को दूर किया जा सकता है।

4 Comments