घर में है इस प्रकार की गणेश की मूर्ति तो जरूर पढ़ें हमारा यह पोस्ट क्योंकि ये मूर्ति दे सकती है आपको खतरा !!

घर में है इस प्रकार की गणेश की मूर्ति तो जरूर पढ़ें हमारा यह पोस्ट क्योंकि ये मूर्ति दे सकती है आपको खतरा !!

हिंदू धर्म में भगवान गणेश जी का बहुत अधिक महत्व है जब भी हम कोई नया काम शुरू करते हैं तो सबसे पहले गणेश जी का पूजन होता है। गणेशजी को मंगलकारी विघ्नहर्ता भी कहा जाता है। क्योंकि गणेश जी की आराधना हमें हर प्रकार की बाधा से मुक्ति दिलाती है कोई भी बड़ा से बड़ा काम है गणेशजी की आराधना से वह काम बिना किसी रूकावट के पूरा हो जाता है। वास्तुशास्त्र में भी भगवान गणेश जी को बहुत अधिक महत्वता दी गई है।

वास्तु शास्त्र में कहा गया है कि भगवान गणेश जी की मूर्ति अपने घर में स्थापित करने से मनोकामना बहुत जल्दी पूरी होती है लेकिन अब सवाल ये उठता है कि भगवान गणेश जी की किस प्रकार की प्रतिमा अपने घर पर स्थापित करें। और इस बात का बहुत सारे लोगों को पता नहीं है ।जिससे वे जाने-अनजाने गलती कर बैठते हैं ।तो आज हम आपको बताएंगे भगवान गणेश की प्रतिमा घर में स्थापित करने से पहले किन विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए।


1 भगवान गणेश की प्रतिमा जब भी आप घर में लाए तो यह ध्यान रखें कि भगवान गणेश की सूंड बाए हाथ की ओर घुमा होना चाहिए क्योंकि ऐसी मान्यता है कि अगर सूंड  बाय हाथ की तरफ है हमारी मनोकामना बहुत जल्दी पूरी होती है। और अगर इसके विपरीत मतलब अगर सूंड दाएं हाथ की ओर है तो मनोकामना पूर्ति में बहुत समय लगता है।
2 दूसरी बात यह है कि गणेश जी के हाथों में उनका एकदंत अंकुश और मोदक प्रतिमा में होना अति आवश्यक है।
3 इसके अलावा एक और चीज का विशेष ध्यान रखना है के गणेश जी एक हाथ वरदान की मुद्रा में हो और साथ में उनका वाहन मूषक भी होना चाहिए।
4 जो लोग संतान सुख की कामना करते हैं उन्हें अपने घर में बाल गणेश की प्रतिमा लगानी चाहिए नियमित इनकी पूजा करने से संतान संबंधी समस्याएं दूर हो जाती है।

263 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.