इस देश में वीरान पड़ा है यह मंदिर कोई भी नहीं जाता दर्शन करने , जानिए वजह !!!

भारत में हिन्दुओ की जनसँख्या ज़्यादा है। इसके बावजूद यहाँ सभी धर्मो का दर्जा एक ही है। परन्तु ऐसे कई देश है जहा हीन्दुओ को किसी तरह की परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस मंदिर की बात करे तो यह एक इस्लमिक देश में बना है। लेकिन वहा कई सालो से कोई भी भक्त दर्शन करने नहीं जारहा है।

भगवती माता का है यह मंदिर :
हम एक ऐसे देश की बात कर रहे है जो रूस और ईरान के बिच में स्तिथ है , जिसका नाम अजरबैजान है। अजरबैजान में यह मंदिर सुराखानी नामक स्थान पर बना है। यह माता भगवती का मंदिर हैं , जिसके बारे में ऐसा कहा जाता है की यह कोई मामूली मंदिर नहीं बल्कि माता भगवती का प्राचीन मंदिर है। इस मंदिर को वहा के लोग आतिशगाह या टेम्पल औफ फायर के नाम से जानते है। यह मंदिर काफी अलग है , भारत के अन्य मंदिरो में से इस मंदिर का नज़ारा आपको अलग लगेगा।
वीरान रहता है यह मंदिर :
माता भगवती के इस मंदिर को आप अममून वीरान ही पाएंगे। यहाँ ना तो कभी भक्तो का ताँता लगता है ना ही माँ के नाम के जयकारे लगते है। इस मंदिर में कोई नहीं आता , यह हमेशा खली ही रहता है। 300 साल से भी ज़्यादा पुराना अपने भक्तो के लिए तरसता है।
निरंतर जलती है ज्योत :
ऐसा माना जाता है की इस मंदिर में कोई नहीं आता फिर भी यह माता के नाम की ज्योत जलती रहती है। यह ज्योत जलने का कारण कोई नहीं जानता। लेकिन मान्यताओं के मुताबिक यह ज्योत माँ भगवती का ही रूप है। माँ इस मंदिर में ज्योत के रूप में विराजित है। ऐसा माना जाता है की इस मंदिर में एक त्रिशूल है जो काफी पवित्र माना जाता है।
हिन्दुस्तानी कारोबारियो ने बनवाया यह मंदिर :
बात अगर मंदिर के निर्माण की करे तो हिन्दुस्तान के कारोबारी रूस और ईरान के बिच पड़ने वाले इस देश के इसी स्थान से गुज़रे थे। ऐसा कहा जाता है की इन्ही लोगो ने माँ भगवती का यह मंदिर बनवाया है।