अद्भुत है वैजयंती माला; उपयोग में आते ही सभी कार्यों में दिला देती है जीत…!!!

धार्मिक कथा ( Religious Story)    

हमारे हिन्दू समाज में कई मालाओं को धारण किया जाता है।

जिनकी धार्मिक धारणाएं होती है। इन सभी मालाओं में एक है वैजयंती माला (Vaijaynti Mala)।

वैजयंती फूलों का बहुत ही सौभाग्यशाली वृक्ष होता है।

वैजयंती माला
वैजयंती माला

माला के सम्बन्ध में प्राचीन ग्रन्थों काफी महिमा का बखान किया गया है।

यह माला धरा ने श्रीकृष्ण (Krishna) को भेंट में दी थी, अतः श्रीकृष्ण (Krishna) को यह माला अत्यन्त प्रिय थी।

यह माला वैजयंती के बीजों से बनती है।

वैजयंती माला

इसे पूजा-पाठ, यज्ञ, हवन, तन्त्र व सात्विक साधनों में प्रयोग किया जाता है।

वैजयंती माला (Vaijaynti Mala) को धारण करने वाला इंद्र (Indra) के समान सारे वस्त्रों को जीतने वाला बन जाता है।

श्रीकृष्ण को यह माला अत्यन्त प्रिय थी
श्रीकृष्ण को यह माला अत्यन्त प्रिय थी

श्री कृष्ण (Krishna) के समान सभी को मोहित करने वाला बन जाता है

महर्षि नारद (Narad) के समान विद्वान बन जाता है।

इस सिद्ध माला को धारण करने वाला हर जगह विजय प्राप्त करता है।

उसके सर्व कार्य अपने आप बनते चले जाते हैं ।

बतादें वैजयंती माला (Vaijaynti Mala) को सिद्ध करने के लिए किसी विशेषज्ञ की सलाह लेनी चाहिए।

पूरा फल पाने के लिए जरूरी है कि माला सही विधि-विधान से प्राण प्रतिष्ठा के बाद ही पहनी चाहिए।

वैजयंती माला
वैजयंती माला

माला धारण की विधि-शुक्ल पक्ष के प्रथम शुक्रवार को स्नान-ध्यान करके ‘ऊं नमः भगवते वासुदेवाय’ मन्त्र का कम से कम 108 बार जाप करें।

फिर किसी मन्दिर (Temple) में गरीबों को मीठा भोजन करायें उसके बाद इस माला को धारण करना चाहिए।

वैजयंती माला के फायदे

  • विवाह बाधा हेतु

यदि किसी लड़का या लड़की के विवाह में लगातार बाधा आ रही है तो वैजयंती माला (Vaijaynti Mala)  से ‘ऊं नमः भगवते वासुदेवाय’ मन्त्र (Mantra) की कम से एक माला का नित्य जाप करें और केले के पेड़ पूजन करें।

ऐसा करने से विवाह में आ रही हर प्रकार की बाधा दूर हो जाती है और जातक का शीघ्र विवाह सम्पन्न हो जाता है।

वैजयंती के बीज
वैजयंती के बीज
  • आकर्षण के लिए

वैजयंती माला (Vaijaynti Mala) को धारण करने से सम्मान में वृद्धि होती है, कार्यो में सफलता मिलती है और मानसिक सुकून प्राप्त होता है।

  • आत्म-विश्वास में वृद्धि के लिए

यदि बच्चों को परीक्षा से पहले भय लगता है तो बच्चों को एक वैजयंती माला (Vaijaynti Mala) पहनाने से लाभ मिलता है।

 

धार्मिक कहानियाँ (Religious Stories)

  • मन शान्त करने के लिए

जिन व्यक्तियों का मन लगातार परेशान रहता है या किसी कार्य में मन नहीं लगता है।

वैजयंती माला
वैजयंती माला

तो ऐसे व्यक्तियों को मंगलवार के दिन वैजयंती माला (Vaijaynti Mala) पहनाने से मन शान्त रहता है ।

मन में सकारात्मक विचार आते है।

  • समस्याओं के निराकरण हेतु

वैजयंती माला (Vaijaynti Mala) से ‘ऊं नमः भगवते वासुदेवाय’ मन्त्र का 2100 बार जाप करके गले में पहन लेने से समस्याओं का निराकरण हो जाता है।

  • नई स्फूर्ति व चेतना हेतु

वैजयन्ती माला (Vaijaynti Mala) को किसी शुभ मुहूर्त श्रीकृष्ण (Krishna) जी का ध्यान करके पहनने से शरीर में नई स्फूर्ति व आनन्द का संचार होता है।

व्यक्ति में धैर्य व साहस बना रहता है।

वैजयंती के बीज
वैजयंती के बीज
  • ग्रह-नक्षत्रों का प्रभाव खत्म करने हेतु

मान्यता है कि पुष्य नक्षत्र में माला धारण करना बहुत ही शुभ फलदायक है।

इस माला को धारण करने के बाद ग्रह-नक्षत्रों का प्रभाव खत्म हो जाता है, खासकर शनि (Shani) का दोष समाप्त हो जाता है।

 

3 Comments