बचना चाहते है भारी संकट से तो आज ही जानिए किन 5 कामों की पद्मपुराण के अनुसार है मनाही..!!!

जीवन को खुशहाल बनाये रखने के लिए पद्मपुराण में 5 ऐसे काम बताये गए हैं जिन्हें व्यक्ति को करने से बचना चाहिए । पद्मपुराण के बारे में जानना चाहते है तो बता दें की महर्षि वेदव्यास द्वारा रचित 18 पुराणों में से एक है पद्मपुराण, जो हमें मनुष्य द्वारा किये गए ये 5 काम के बारे में बताता है जो उन्हें जीवन में कठिनाइयों का सामना करा सकते हैं , इसलिए इन कामों से जितनी दूरी बनाकर रखी जाए उतना ही अच्छा है । तो आईये आज जानें कौन से हैं वो 5 कार्य जिससे मनुष्य को दूरी बनाना चाहिए और करने से बचना चाहिए:

पद्मपुराण
पद्मपुराण

1.कई बार लोग दूसरों के विवादों को सुलझाने में खुद उस विवाद का हिस्सा बन जाते हैं । इसलिए दूसरों के विवाद में ज़्यादा दखलंदाज़ी ना करें । बिना बात की सलाह देने से बचना चाहिए अपनी सलाह उतनी ही दें जितनी ज़रुरत है । विवाद में ज़्यादा घुसने पर आप उसमें उलझ जाते हैं और ना चाहते हुए भी उस विवाद का हिस्सा बन जाते हैं । ऐसा करने पर आप खुद के लिए परेशानी मोल लेते हैं और अपने अपनों से दूरी पैदा कर लेते हैं ।

2. पद्मपुराण के अनुसार बिना वजह किसी पर गुस्सा नहीं करना चाहिए । बिना वजह गुस्सा करने की आदत आपके दुश्मनों की संख्या को बढ़ा देती है । दुश्मनों की संख्या बढ़ने पर आपको दुखों और परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है । इसलिए बिना वजह किसी पर अपना गुस्सा ना उतारें । इससे आपके अपने ही निजी रिश्ते ख़राब हो जाते हैं ।

महर्षि वेदव्यास द्वारा रचित पद्मपुराण
महर्षि वेदव्यास द्वारा रचित पद्मपुराण

3. कुछ लोगों की पीठ पीछे बुराई करने की आदत होती है और यह आदत सबसे ख़राब मानी जाती है और इससे हमें बचना चाहिए । पीठ पीछे बुराई करने वाले लोगों का मकसद दूसरों को नीचा दिखाना होता है और उनकी यही बुरी आदत बर्बादी का कारण बनती है, इसलिए दूसरों की बुराई करने से बचना चाहिए यह  बिना वजह विवाद को जन्म देती है ।

4. हमारे अपनों की बुरी आदतें भी हमारे लिए परेशानी खड़ी कर सकती है । उनकी बुरी आदतों का असर हम पर भी पड़ सकता है. इसलिए ऐसे व्यक्ति के संगत में आने से बचना चाहिए जिसे दूसरों की बुराई करने की आदत हो । ऐसे व्यक्ति के साथ रहकर आप परेशानी को निमंत्रण देते हैं और यह आपके अपनों में भी दूरी पैदा कर देती है ।

5. व्यक्ति को हमेशा सोच समझकर ही बोलना चाहिए । उन्हें कोई ऐसी बात नहीं बोलनी चाहिए जिससे दूसरों को ठेस पहुंचे । अच्छी बातों और अच्छे व्यवहार से हम किसी का भी दिल जीत सकते हैं । इसके विपरीत बुरी बातों और बुरे आचरण से शत्रु बना लेते हैं, इसलिए किसी भी बात को बोलने से पहले थोड़ा सोच विचार कर लेना चाहिए और ध्यान रखना चाहिए कि आपकी बातों से किसी का दिल तो नहीं दुःख रहा ।