आज शाम इस समय के बीच करे 21 दूर्वा का यह महाउपाय फिर देखे कैसे होती है आपके घर नोटों की बारिश !!

आज इस समय के बीच करे 21 दूर्वा का यह महाउपाय फिर देखे कैसे होती है आपके घर नोटों की बारिश !!

भगवान श्री गणेश विघ्नहर्ता कहलाते है । किसी भी पूजा में सबसे पहले इन्हीं की आराधना की जाती है । कहते है कि यदि गणेश चतुर्थी / चतुर्थी तिथि / बुधवार को भगवान श्रीगणेश को प्रसन्न करने के लिए कुछ विशेष उपाय किए जाएं तो भक्तों की समस्त इच्छाएँ पूरी हो सकती है।  भगवान गणेश स्वयं रिद्घि-सिद्घि के दाता व शुभ-लाभ को प्रदान करने वाले हैं। प्रभु गजानन की संकल्प अनुसार पूजा अर्चना करने से विघ्नहर्ता अपने भक्तों की सभी बिगड़ी बात बना देते हैं। वह भक्तों की सभी बाधाएं, संकट, रोग, शत्रु तथा दारिद्रता को दूर करते हैं।

मान्यता है भगवान गणपति की पूर्ण श्रद्धा एवं संकल्प से साधना-आराधना करने से भक्तों के घोर से घोर संकट भी दूर हो जाते है,उन्हें समस्त चिंताओं से मुक्ति मिलती है, तथा उनके जीवन से विघ्न दूर होकर उन्हें अपने सभी कार्यों में सफलता मिलती है।   आइये हम आपको कुछ आसान से उपाय बताते है जिससे आप गणेश जी को प्रसन्न का एक ऐसा सिद्ध उपाय जो आपको देगा धन ही धन।

दूर्वा से भगवान गणेश की पूजा करने वे अधिक प्रसन्न होते हैं, क्योंकि दूर्वा में अमृत होता है। गणपति अथर्वशीर्ष में कहा गया है कि जो भी दुर्वाकर से भगवान गणेश की पूजा करता है, वह कुबेर के समान होता है। आज शाम 4 बजे से 6 बजे के बीच 11 या 21 दुर्वा का  मुकुट बनाकर भगवान गणेश के मस्तक पर रखें। इससे भविष्य मे धन प्राप्ति के योग बनते है।

221 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.