प्राचीन और सबसे प्रसिद्ध है गायत्री मंत्र; पढ़िए गायत्री मंत्र की धार्मिक और वैज्ञानिक महत्ता..!!

हिंदी धार्मिक कहानियाँ(Religious Stories in Hindi )

हमारे हिन्दू धर्म में गायत्री मंत्र (Gayatri Mantra) सबसे प्राचीन और सबसे प्रसिद्ध मन्त्र माना गया है।

गायत्री मंत्र (Gayatri Mantra) वेदों से लिया गया एक अत्यंत श्रद्धेय मंत्र (Mantra) है।

गायत्री मंत्र
गायत्री मंत्र

आइये सबसे पहले हम आपको गायत्री मंत्र (Gayatri Mantra) का अर्थ बताते है।

“गायत्री” शब्द दो शब्दों से बना है: “गायत ” का मतलब पाप है और “त्रि” का मतलब है मुक्ति ।

इस प्रकार गायत्री का अर्थ है “पाप से मुक्ति”।

गायत्री (Gayatri) देवी, जो पंचमुख़ी है, हमारी पांच इंद्रियों और प्राणों की देवी मानी जाती है।

गायत्री मंत्र
गायत्री मंत्र

भगवान ब्रह्मा (Brahma), भगवान विष्णु (Vishnu)और भगवान शिव (Shiv) भी इस मंत्र (Mantra) का जाप करते थे।

गायत्री (Gayatri )देवी ने “गायत्री मंत्र” देकर सम्पूर्ण मानव जाति को आशीर्वाद दिया।

यह “गुरु मंत्र” के रूप में भी जाना जाता है।

गायत्री मंत्र (Gayatri Mantra) का अभ्यास सभी वेदों का सार है।

गायत्री देवी
गायत्री देवी

देवी गायत्री (Gayatri )को “वेद-माता” या वेदों की माँ कहा जाता है।

गायत्री मंत्र (Gayatri Mantra) देवताओं का खाना होने के लिए कहा जाता है।

यह मंत्र “प्रकाश और जीवन के दाता” की प्रार्थना के रूप में भी माना जाता है।

गायत्री मंत्र

“ॐ भूर्भुवः तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्यः धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात्”

मंत्र का मतलब है – हे प्रभु,कृपा करके हमारी बुद्धि को उजाला प्रदान कीजिये और हमें धर्म का सही रास्ता दिखाईये।

यह मंत्र (Mantra) सूर्य (Surya) देवता (सवितुर) के लिये प्रार्थना रूप से भी माना जाता है।

गायत्री मंत्र
गायत्री मंत्र

अब जानते है इस मंत्र (Mantra)के प्रत्येक शब्द का अर्थ:

  • ॐ = प्रणव
  • भूर = मनुष्य को प्राण प्रदाण करने वाला
  • भुवः = दुख़ों का नाश करने वाला
  • स्वः = सुख़ प्रदाण करने वाला
  • तत = वह
  • सवितुर = सूर्य की भांति उज्जवल
  • वरेण्यं = सबसे उत्तम
  • भर्गो = कर्मों का उद्धार करने वाला
  • देवस्य = प्रभु
  • धीमहि = आत्म चिंतन के योग्य (ध्यान)
  • धियो = बुद्धि
  • यो = जो
  • नः = हमारी
  • प्रचोदयात् = हमें शक्ति दें (प्रार्थना)

गायत्री मंत्र का वैज्ञानिक महत्त्व

‘ मंत्र’ में १ १०,००० प्रति मिनट ध्वनि तरंगों का उत्पादन होता है।

गायत्री मंत्र
गायत्री मंत्र

जो कि यह और सभी मन्त्रों, भजनों में सबसे बहुत ज्यादा था।

वैज्ञानिकों के अनुसार भी यह दुनिया में सबसे शक्तिशाली मंत्र (Mantra)माना जाता है।

 

3 Comments